Vishv Itihas Ki Jhalak (Sankshipt) (PB)

Vishv Itihas Ki Jhalak (Sankshipt) (PB)

Rs. 250/-

  • ISBN:978-81-7309-1
  • Pages:496
  • Edition:First
  • Language:Hindi
  • Year:2011
  • Binding:Paper Back

संसार के साहित्य में ‘विश्व इतिहास की झलक’ को विशेष ख्याति प्राप्त हुई है। इस पुस्तक में लेखक ने बड़े ही रोचक और सजीव, साथ ही, नए दृष्टिकोण से दुनिया के इतिहास की झांकी पाठकों के लिए उपस्थित की है और साम्राज्यों के उत्थान-पतन की कहानी पर बड़े सुंदर ढंग से प्रकाश डाला है। इस पुस्तक को पढ़कर पता चलता है कि नेहरू जी एक महान राष्ट्र-नेता के साथ-साथ उच्चकोटि के साहित्य-मर्मज्ञ तथा अंतर्राष्ट्रीय राजनीति के उद्भट विद्वान भी थे। प्रस्तुत पुस्तक वास्तव में उनके अंतर्राष्ट्रीय राजनीति तथा इतिहास के गहरे ज्ञान का सागर है। इस पुस्तक में सन् 1939 तक की घटनाएं हैं। उसके बाद दुनिया में बहुत-सी उथल-पुथल हुई है, छोटे-बड़े अनके परिवर्तन हुए हैं। भारत भी इस अर्से में स्वतंत्र हो गया है। कोशिश की गई है कि इस काल की खास-खास घटनाओं का समावेश इस पुस्तक में किया गया है।

Write a review

Note: HTML is not translated!
  • Bad
  • Good