Hamari Lok Kathaye (PB)

Hamari Lok Kathaye (PB)

Rs. 40/-

  • ISBN:81-7309-188-9
  • Pages:
  • Edition:
  • Language:
  • Year:
  • Binding:

इस संग्रह का संकलन लोक-साहित्य के अनन्य प्रेमी स्व. श्री शिव सहायजी चतर्वेदी ने किया था। उन्होंने लोक-साहित्य का, विशेषकर कथा-कहानी-साहित्य का, बड़ी गहराई और प्रामाणिकता से संग्रह और अध्ययन किया था। बुंदेलखंडी लोक-कहानियों के उनके कई संग्रह प्रकाशित हुए हैं। लोक-साहित्य को प्रकाश में लाने का महत्वपूर्ण कार्य वह वर्षों तक करते रहे। इस पुस्तक में केवल उन्हीं भाषाओं की कहानियों को लिया है, जो हिंदी-परिवार की हैं। पाठक देखेंगे कि मूलभाषा हिंदी से इतनी मिलती-जुलती हैं कि उसे समझने में विशेष कठिनाई नहीं होती। प्रत्येक जनपदीय भाषा की कहानियों को एक-एक स्वतंत्र पुस्तक निकालने की हमारी योजना के अंतर्गत बुन्देलखंडी, ब्रज, मालवी, गढ़वाली तथा मैथिली के पृथक-पृथक संग्रह निकल चुके हैं।

Write a review

Note: HTML is not translated!
  • Bad
  • Good