Divyatma Ka Chamatkar (PB)

Divyatma Ka Chamatkar (PB)

Rs. 15/-

  • Writer: sankalan
  • Product Code:
  • Availability: Out Of Stock
  • ISBN:
  • Pages:
  • Edition:
  • Language:
  • Year:
  • Binding:

‘सस्ता साहित्य मण्डल’ ने हिंदी तथा उसके परिवार की अन्य भाषाओं की चुनी हुई लोक-कथाओं की लगभग एक दर्जन पुस्तकें प्रकाशित की हैं। इन पुस्तकों की पाठकों ने भूरि-भूरि प्रशंसा की है। उनकी लोकप्रियता का अनुमान इस बात से लगाया जा सकता है कि उस माला की प्रायः सभी पुस्तकों के एकाधिक संस्करण हो गये हैं। उसी से प्रेरित होकर हमने प्रस्तुत नई पुस्तक माला आरंभ की है। इसमें विभिन्न देशों की चुनी हुई लोक-कथाओं को प्रकाशित किया जा रहा है। पाठक देखेंगे कि लोक-कथाओं में कितना साम्य होता है। यदि कहानियों के परिवेश तथा पात्रों के नामों में अंतर न हो तो पता ही नहीं चलता कि कौन कथा किस देश की है।

Write a review

Note: HTML is not translated!
  • Bad
  • Good