Jiwan Jyoti (PB)

Jiwan Jyoti (PB)

Rs. 30/-

  • ISBN:
  • Pages:
  • Edition:
  • Language:
  • Year:
  • Binding:

जीवन ज्योति

यशपाल जैन

मूल्य: 30.00 रुपए

प्रस्तुत पुस्तक के विषय में मेरा कुछ कहना अनावश्यक है। अपनी बात वह स्वयं कहती है। मुझे तो केवल इतना कहना है कि पुस्तक एक विशेष उद्देश्य को सामने रखकर लिखी गई है। इसके लिखने का प्रयोजन यह है कि पाठक मानवता के साथ अपने को जोड़े। यह तब संभव हो सकता है, जबकि वे मानवीय मूल्यों को समझें और उनके द्वारा अपने जीवन में एक ऐसी ज्योति प्रज्ज्वलित करें, जिससे अंदर-बाहर व्याप्त अंधकार दूर हो और सब कुछ प्रकाशमान हो उठे। इस पुस्तक में यही बताया गया है कि हम मानवता के साथ किस प्रकार एकाकार हो सकते हैं। इसका एक ही रास्ता है और वह यह कि हमारा अंतःकरण निर्मल हो और हम अपने मन में सत्संकल्प करें, हाथों से सत्कर्म करें।

Write a review

Note: HTML is not translated!
  • Bad
  • Good